हिंदी कहानियाँ

6/recent/ticker-posts

एक गडरिया और भेड़िया की हिंदी कहानी - Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi : एक चरवाहा लड़का अपने मालिक की भेडों को गाँव से बहुत दूर एक घनघोर जंगल के पास चराने के लिए ले गया था। उसने देखा कि उस जंगल में और कोई नही है, हर तरफ़ सूनसान इलाक़ा है। वह लड़का खुद को खुश करने के लिए अपने कुत्ते के साथ खेलने और बात करने लगा।

Moral Stories in Hindi, Shepherd and Wolf Hindi kahani

जब वह लड़का अपने कुत्ते के खेलने में व्यस्त था, उसी समय उसके मन में आया की अगर इस जंगल में कोई भेड़िया दिखा और अगर भेड़िए ने उस पर या उसकी भेड़ों पर हमला कर दिया तो वह क्या करेगा? ऐसा सोच कर वह ख़ुद को और अपने मालिकों की भेड़ों को बचाने के लिए योजना बनाने लगा की अगर भेड़िया या भेड़िये का झुंड उनपर हमला किया तो वह क्या करेगा ?

Moral Stories in Hindi

उसने सोचा की अगर भेड़िओं का झुंड उस पर और उसकी भेड़ों पर हमला करेगा तो उसे तुरंत ज़ोर ज़ोर से चिल्ला कर गाँव वालों को आवाज़ देकर मदद माँगनी चाहिए। गाँव वाले भेड़िओं को भगा देंगे।

वह ऐसा प्लान बनाकर सोचा क्यों ना एक बार गाँव वालों से मज़ाक़ किया जाए। ऐसा सोच कर वह लड़का ज़ोर ज़ोर से “भेड़िया! भेड़िया!" चिल्लाते हुए गाँव की तरफ़ भागा।

गडरिया और भेड़िया की यह Hindi kahani आप Kahani.HinduAlert.in पर पढ़ रहे हैं।

जैसा कि उस लड़के ने उम्मीद की थी, गाँव वाले उसकी आवाज़ सुन कर अपना काम छोड़कर जंगल के चारागाह की तरफ़ दौड़ कर पहुँच गए। लेकिन जब वो वहाँ पहुचें तब उन्हें पता चला की वह लड़का मज़ाक़ कर रहा था, जंगल के उस चारागाह में कोई भेड़िया नही था।

इसे भी पढ़ें : चिंतित पति की हिंदी कहानी - Moral Stories in Hindi

जब गाँव वालों को पता चला की लड़के के चाल चली थी, तो इसके बाद सभी गाँव वाले लड़के को डाँट कर वापस आ गए।

कुछ दिन बीतने के बाद एक दिन लड़का अपनी भेड़ों को जंगल के चारागाह में चराने के लिए ले गया तो शाम होने से पहले भेडियों के झुंड ने उसकी भेड़ों पर हमला कर दिया।

भेडियों के झुंड का हमला होने पर वह लड़का ज़ोर ज़ोर से “भेड़िया! भेड़िया!" चिल्लाते हुए गाँव की तरफ फिर भागा। लेकिन इस बार गाँव वाले उसकी मदद के लिए आगे नही आए।

इसे भी पढ़ें : किसान के तीन बेटे और छड़ी का एक बंडल हिंदी कहानी / एकता में ही बल है - Moral Stories in Hindi

उन्हें लगा की लड़का आज फिर मजाक कर रहा है, यही सोच कर कोई भी ग्रामीण उसकी मदद के लिए नही गया। तब तक भेडियों के झुंड ने कई भेड़ों को मार कर खा लिया और जंगल में वापस चले गए।

Moral of Story in Hindi

इस हिंदी कहानी (Kahani) से हमें सीख मिलती है की यदि आप झूठ बोलना शुरू कर देंगे, तो लोग आप पर विश्वास करना छोड़ देंगे। फिर भले ही आप सच बोलें लेकिन लोग उसे झूठ ही समझेंगे। इसलिए हमेशा सच बोलें, कभी भी झूठ बोलकर अपना और दूसरों का नुक़सान ना करें।

इसे भी पढ़ें : लालची चूहा की हिंदी कहानी - Moral Stories in hindi, Greedy Mouse Hindi Story

दोस्तों, अगर गडरिया और भेड़िया की यह Moral Stories in Hindi आपको पसंद आई हो तो कमेंट करके जरूर बताएँ। साथ ही फेसबुक में हमारे "हिंदी कहानियाँ" पेज से जुड़ें। अगर यह Hindi Kahani आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें।

Kahani, hindi kahani, hindi story, kahaniya, short story in hindi, motivational story in hindi,

Post a comment

0 Comments