Kahani -

6/recent/ticker-posts

बौना लड़का और जादुई तितली की कहानी - Kahani, Bauna Ladka aur Jadui Titli Ki Hindi Kahani

Kahani, Bauna Ladka aur Jadui Titli Ki Hindi Kahani, Jadui Kahani

Kahani : रोहन नाम का एक लड़का अपने माता-पिता के साथ दिल्ली में रहता था और बड़े स्कूल में पढ़ता था। रोहन आठवीं क्लास में पढ़ता था लेकिन उसका कद उसकी उम्र के अनुसार बहुत कम था। इसलिए उसे स्कूल में सारे बच्चे बौना कहकर बुलाते थे और उसका मजाक उड़ाते थे।

रोहन को बहुत बुरा लगता था और वे इस वजह से स्कूल भी नहीं आना चाहता था और दिन भर रोता रहता था। एक दिन की बात है - रोहन की मम्मी सुबह सुबह रोहन को जगाने जाती हैं। रोहन की मम्मी - रोहन जल्दी उठो, स्कूल नहीं जाना क्या नहीं जाना? तुम्हारा रोज का नाटक हो गया है। रोहन ने मम्मी से बोला - मैं स्कूल नहीं जाना चाहते नहीं जाना चाहता।

Kahani, Bauna Ladka aur Jadui Titli Ki Hindi Kahani, Jadui Kahani
Kahani, Bauna Ladka aur Jadui Titli Ki Hindi Kahani, Jadui Kahani

Kahani : रोहन की मम्मी ने उससे पूछा - क्या बात है? और बोली स्कूल तो जाना पड़ेगा। रोहन नहीं मानता है, तो उसे कमरे में बंद कर देती हैं और उसे खाना देने से भी मना कर देती हैं। जब भूखा प्यासा पूरे दिन कमरे में बंद रहेगा तो अपने आप दिमाग ठीक हो जाएगा। स्कूल जाने लगेगा। रोहन बहुत रोता है और रोते-रोते वही सो जाता है।

आप बौना लड़का रोहन और जादुई तितली की हिंदी कहानी (Kahani) पढ़ रहे हैं।

सुबह जब रोहन की अचानक नींद खुलती है, तो देखता है कि उसके पास एक पारी की तरह की तितली रहती है। जो रोहन के पास ही होती है। उसको देखकर अचंभित हो जाता है। उसने कहा मैं - जादुई तितली हूं। मैंने रात को तुम्हें रोते देखा था। तुम चाहो तो मुझे अपनी परेशानी बता सकते हो।

Kahani : रोहन मायूस हो जाता है और कहता है स्कूल में सब लोग मुझे बौना कहकर चिढ़ाते हैं और मेरा स्कूल में कोई भी दोस्त नहीं है। इस वजह से मैं पढ़ भी नहीं पाता।

तितली ने कहा - अरे यह तो बहुत गलत बात है। तुमने अपने माता-पिता को यह नहीं बताया। मुझे उनसे डर लगता है। तितली ने कहा लेकिन तुमको अपने माता-पिता को तो बताना पड़ेगा। रोहन ने कहा - नहीं नहीं मैं नहीं बता सकता।

इस कहानी (Kahani) को भी पढ़ें : एक राजा की पेंटिंग की हिंदी कहानी - Moral Stories in Hindi

Kahani : फिर तितली ने कहा - अच्छा अच्छा कोई बात नहीं, तुम अपनी पढ़ाई में मन लगाओ। मैं कुछ करती हूं और आज से हम दोस्त हैं। इसलिए अब यह मत कहना कि तुम्हारा कोई दोस्त नहीं है। रोहन खुश हो जाता है और स्कूल जाने लगता है और मन लगाकर पढ़ाई करता है और रोज जादुई तितली से बात करता है।

रोहन की हाइट धीरे-धीरे बढ़ने लगती है और जब तक रोहन के एग्जाम का रिजल्ट आता है रोहन की हाइट बढ़ चुकी होती है और रोहन क्लास में टॉप करता है। रोहन में इतना बदलाव देखकर उसकी क्लास में सारे बच्चे और टीचर दंग रह जाते हैं। उनको समझ नहीं आता कि रोहन की हाइट कैसे बढ़ गई।

इस कहानी (Kahani) को भी पढ़ें : लालची चूहा की हिंदी कहानी - moral stories in hindi, Greedy Mouse Hindi Story

Kahani : घर आकर वह तितली से बात कर रहा था। तभी तितली ने उसे कहा कि - अब मैंने तुम्हारी हाइट बढ़ा दी है। तुम अब ख़ुद को कभी किसी से कम मत समझना, खुद पर विश्वास रखना और अगर मैं कभी कहीं चली भी गई तो तुम दुखी मत होना। रोहन ने तितली से कहा - तुम कहां जा रही हो? तुम तो मेरी अच्छी दोस्त हो ना? तो मुझे छोड़कर कहीं नहीं जाओगी ना। अरे मैं तो सिर्फ बता रही थी।

जादुई तितली एक दिन रोहन को एक किताब देती है और उसको कहती है इस किताब को दो दिन बाद ही खोलना ठीक है। उसके बाद रोहन स्कूल चला जाता है। आज रोहन को स्पीच देनी थी। मैं जाता हूँ, तितली से इतना कह कर वह अपने स्कूल चला जाता है।

स्कूल में स्पीच देते हुए रोहन कहता है - यह स्पीच मेरे खुद के ऊपर है, मुझे हमेशा मेरी हाइट के कारण नीचा दिखाया गया और सब मुझे बौना कह कर चिढ़ाते थे लेकिन मैंने अपने विश्वास को कभी कमजोर नहीं होने दिया। आप सभी लोगों से अनुरोध है कि आप किसी का कभी मजाक ना उड़ाए। रोहन की स्पीच पर सब लोग बहुत तालियां बजाते हैं और उसकी बहुत तारीफ करते हैं और उनके माता-पिता को भी उनकी गलती का एहसास हो जाता है।

इस कहानी (Kahani) को भी पढ़ें : मूर्ख बंदर और गौरैया की कहानी - Moral Stories in Hindi

Kahani : 2 दिन बाद जादुई तितली के कहे अनुसार रोहन ने किताब खोल कर देखा तो उस किताब में लिखा होता है - जादुई तितलियों की उम्र 5 साल की होती है। मैं जा रही हूं, लेकिन तुम कभी खुद को अकेला मत समझना। मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूं और कभी रोना मत। रोहन इतना पढ़ कर बहुत दुखी हो जाता है लेकिन उसको जादुई तितली जीने का तरीका सिखा देती है और अब रोहन जादुई किताब हमेशा अपने साथ रखता है।


Jadui Kahani : Bauna Ladka aur Jadui Titli Ki Hindi Kahani

जादुई तितली की यह हिंदी कहानी (Kahani) आपको कैसी लगी, कमेंट करके जरूर बताएँ। अगर आपको यह कहानी (Kahani) अच्छी लगी हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। ऐसी ही हिंदी कहानियाँ (Hindi Kahaniyan) , जादुई कहानियाँ (Jadui Kahaniyan), Hindi Stories पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़ें रहें। साथ ही हमारे facebook पेज को भी लाइक और फ़ॉलो करें।

इस कहानी (Kahani) को भी पढ़ें : राधा और उसकी सौतेली माँ की कहानी - Kahani, Hindi Stories, bacchon ki kahaniyan

Post a comment

0 Comments