Horror Story in Hindi : दोस्तो, आज हम आपको जो हॉरर स्टोरी इन हिंदी में बताने वाले हैं, वो बिल्कुल सच है और हाल ही में यह घटना महाराष्ट्र के पालघर में हुई है।

एक लड़की जो अपने लवर के साथ खरीदारी के लिए घर से बाहर जाती है, इसके बाद कभी घर नहीं पहुंची। उसकी लड़की की कोई सूचना कई दिनों तक ना मिलने पर परेशान होकर उसका परिवार लड़की के मोबाइल पर नम्बर कॉल करता है।

थोड़ी देर बाद लड़की कॉल रिसीव करके कहती है कि अभी वह बहुत व्यस्त है, बाद में कॉल करेगी। लेकिन उसके बाद उसके परिवार वालों को लड़की का कोई सुराग नहीं मिलता है। धीरे-धीरे काफ़ी समय बीतता गया। परिवार ने लड़की की गुमशुदगी की एफ़आईआर लिखाई थी।

इस बीच, एक फ्लैट से एक लड़की का शव बरामद किया गया है, जिसे फ्लैट की दीवार से निकाला गया था। सवाल यह था कि लड़की का मृत शरीर उस दीवार तक कैसे पहुंचा।

यह जानने के लिए आप इस कहानी (Horror Story in Hindi) को आगे पढ़िए, इस ख़ौफ़नाक वारदात को जान कर आप की रूह काँप जाएगी।

महाराष्ट्र के पालघर में स्थित वृंदावन दर्शन कॉम्प्लेक्स शहर की रिहायशी कॉलोनी है। 15 जनवरी 2021 को पालघर जिले के इस कॉम्प्लेक्स में जिले के पुलिस अफ़सरों के साथ, एंबुलेंस, कई थानों की पुलिस, पुलिस के फोटोग्राफर और फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स भी मौजूद थे।

love story ka end - horror story in hindi
Horror Story in Hindi

कॉम्प्लेक्स में रहने वाले दूसरे परिवारों के सभी लोगों की निगाह फ्लैट नंबर 101 पर टिकी थी, इस फ्लैट में कुछ ऐसा हुआ था जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नही था। क्योंकि पुलिस ने अपनी टीम के अलावा कुछ मजदूरों को भी बुलाया था।

हर कोई सिर्फ़ इतना जानना चाहता था कि आख़िर ऐसा क्या हो गया की इतनी भारी पुलिस के साथ सब मौजूद हैं। सबके मन में सिर्फ़ एक सवाल था आख़िर यहां हुआ क्या है? क्योंकि अभी तक किसी को इस घटना ने बारे में कोई जानकारी नही थी।

Horror Story in Hindi

पुलिस के साथ फ़्लैट का मालिक और उस फ़्लैट में किराए पर रहने वाला 35 साल का सूरज हरमलकर भी मौजूद था।

सूरज इसी फ्लैट में अपनी लवर अमिता मोहिते के साथ लिव इन में रहता था, लेकिन आज पुलिस के साथ सब थे लेकिन अमिता किसी को नज़र नहीं आ रही थी।

कॉम्प्लेक्स के लोगों ने बताया की अमिता आज ही नहीं बल्कि पिछले कई दिनों से किसी को नहीं दिखी है। ऐसे में अब सवाल ये था क़ि अमिता कहां गई? सभी के मन में आ रहा था की क्या अमिता के साथ ही कुछ हो गया? या फिर कुछ और ही कहानी है?

पालघर पुलिस सूरज से किसी को भी मिलने और बात करने नही दे रही थी। कॉम्प्लेक्स के ग्राउंड में लोगों की हुजूम लगता जा रहा था। फ्लैट नंबर 101 के अंदर पुलिस वाले कुछ तोड़-फोड़ करने में व्यस्त थे। कुछ घंटे सब ऐसा ही चलता रहा।

इस कहानी को भी पढ़ें :   एक गडरिया और भेड़िया की हिंदी कहानी - Moral Stories in Hindi

Horror Story in Hindi

आख़िरकार कुछ समय बीतने के बाद वो समय भी आ गया, जब कुछ पुलिस वाले फ्लैट से बाहर निकले। जो कि लोगों के लिए एक डरावना मंज़र से कम नही था।

पुलिस वाले फ़्लैट से एक लाश को लेकर बाहर निकले थे। लाश भी कुछ ऐसी-वैसी नहीं थी, बल्कि इंसानी जिस्म जो की हड्डियों की गठरी में तब्दील हो चुका था। अब सबको यह अंदाज़ा हो गया था कि यह मामूली मौत का मामला नहीं था, बल्कि यहां किसी का मर्डर हुआ था।

अब सब जानना चाहते थे कि आख़िर ये किसकी लाश थी? मर्डर किसने किया? और सबसे बड़ा सवाल की मृत शरीर की ऐसी हालत कैसे हुई? फिलहाल किसी भी व्यक्ति के पास इन सवालों का कोई जवाब नहीं था।

पुलिस की कार्रवाई आगे बढ़ी तो लोगों को उनके सवालों का जवाब भी मिलता गया। कुछ समय बाद सबको पता चल गया कि वो लाश किसी और की नहीं बल्कि अमिता मोहिते की थी जो कि 32 साल की थी। वह सूरज के साथ यहाँ रहती थी।

Horror Story in Hindi

पुलिस ने सूरज को जिस तरह से अपने कब्ज़े में कर रखा था, उससे सबको यही लग रहा था कि इस मर्डर के पीछे सूरज का ही हाथ है।

कुछ समय बाद अमिता की लाश को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगे की जाँच के लिए सूरज को अपने साथ ले कर चली गई। अब कॉम्प्लेक्स में सब कुछ शांत हो चुका था।

इधर, अमिता की मौत के बारे में स्थानीय लोगों को जो खबर मिली वह बहुत अजीब और भयानक थी। यह पता चला कि अमिता का शव अपार्टमेंट के अंदर बाथरूम के ऊपर की दीवार से निकाला गया था। शव करीब चार माह पुराना है।

उसके रूममेट लवर सूरज हरमलकर के अलावा ऐसा करने वाला कोई और नहीं था। लेकिन सोचने वाली बात ये थी कि सूरज पिछले 40 दिनों से अमिता की लाश के साथ आराम से रह रहा था। जिसको उसने बाथरूम के ऊपर दीवार में चुनवा दिया था।

इस कहानी को सुनकर लोग हैरान थे। न तो लड़की की हत्या को कोई समझ पा रहा था, न ही लाश को छिपाने और सूरज के उसके साथ रहने वाली बात। लोगों को लगा कि यह कैसे संभव है? एक व्यक्ति एक ही घर में चार महीने तक दिन-रात लाश के साथ कैसे रह सकता है?

Horror Story in Hindi

आखिर सूरज के इस कृत्य के बारे बारे में किसी को पता क्यों नहीं चला? उसने अपनी लवर अमिता को किन परिस्थितियों में मार डाला? क्या सूरज ने ख़ुद ही दीवार को तोड़कर लाश को चिन दिया था? या किसी और की मदद ली थी? अगर किसी ने सूरज की मदद की तो किसी और को इसके बारे में पता क्यों नही चला?

इस कहानी को भी पढ़ें :   एयर इंडिया क्रैश: कैप्टन साठे की बहादुरी की Motivational Story in Hindi

बेशक_सूरज ही इन सभी सवालों का जवाब दे सकता था। जिसको पालघर पुलिस स्टेशन की कड़ी जांच का सामना करना था।

वास्तव में, सूरज और अमिता, जो पालघर में रहते थे, लगभग छह साल से एक-दूसरे को जानते थे। और न केवल वे एक-दूसरे को जानते थे, बल्कि वे एक-दूसरे के काफी करीब भी थे। अमिता सूरज से शादी करना चाहती थी, लेकिन सूरज इसके लिए तैयार नहीं था।

और इससे भी अधिक आश्चर्य की बात यह थी कि सूरज ने इसे कई सालों तक अमिता से छिपा कर रखा और इस तरह यह रिश्ता सालों तक चला। दोनों की जोड़ी भी बनी रही। और अमिता शादी के सपने बुनती रही। मामला धीरे-धीरे अमिता के घर आया।

वास्तव में, अमिता का परिवार उसकी शादी कहीं और करना चाहता था। लेकिन अमिता ने कहा कि अगर वह शादी करती है, तो वह सूरज से शादी करेगी। अंत में अमिता के परिवार के सदस्य अमिता की पसंद से सहमत हो जाते हैं।

Horror Story in Hindi

उसने अमिता के होने वाले पति सूरज को घर पर बुलाया और अमिता के दबाव के कारण सूरज के घर तक ही नही गया, सूरज ने अमिता से शादी करने की भी बात कही।

हालांकि सूरज ने अमिता और उसके परिवार के सदस्यों को बताया कि उसका परिवार इस रिश्ते से नाखुश है, लेकिन उसे कोई परवाह नहीं है।

अब वह बस एक अच्छे दिन और एक अच्छी तारीख का इंतजार कर रहा है। जैसा कि अमिता को परिवार के सदस्यों की सहमति मिली थी, वह अक्सर अपने वृंदावन दर्शन कॉम्प्लेक्स के फ़्लैट पर सूरज के साथ रहती थी। इस फ़्लैट को शादी के बाद साथ रहने के इरादे से सूरज ने किराए पर लिया था।

अमिता ने 21 अक्टूबर, 2020 को शाम 7 बजे अपने घर में ये बता कर बाहर गई की वह सूरज के साथ अपनी शादी की खरीददारी करने जा रही है। लेकिन उस दिन के बाद अमिता आज तक कभी वापस नहीं आई।

अमिता को बाद में किसी ने नहीं देखा। जब वह 21 तारीख की रात को घर नहीं लौटी, तो अमिता के परिवार वालों ने सोचा कि अमिता सूरज के यहाँ रुकी हुई होगी। लेकिन फिर 22, 23, 24, 25,26,27 ऐसे ना जाने कितने दिन बीत गए। लेकिन अमिता का कुछ भी पता नहीं चला। अब, अमिता के परिवार के सदस्य धीरे-धीरे असहज हो रहे हैं।

Horror Story in Hindi

इस कहानी को भी पढ़ें :   Hindi Stories - गुरुग्राम की कंपनी ने लॉंच की 20,000 रुपए की इलेक्ट्रिक बाइक, ड्राइविंग लाइसेंस की जरुरत नहीं

वह अमिता के नंबर पर कॉल करने लगे। अमिता का फोन अक्सर बजता रहता, सूरज फोन उठाता और घर से बाहर होने की बात करता। यह भी कई बार हुआ कि अमिता के फोन पर घंटी बजी, लेकिन दूसरी ओर उसका फोन बंद हो गया और एसएमएस का जवाब मिला कि वह अच्छी है, जब वह काम से मुक्त होगी तो वह फोन करेगी।

लेकिन उसने कभी फोन नहीं किया। कई बार ऐसा हुआ कि अमिता के फोन करने के बाद उसने फोन पर छोटा सा जवाब दिया और फोन रख दिया। कुल मिलाकर, अमिता के परिवार के लिए सब कुछ रहस्यमय था।

और फिर परिवार वालों ने अपनी बेटी के लापता होने की रिपोर्ट करने के लिए पालघर पुलिस गए। पुलिस ने एक रिपोर्ट के साथ जांच शुरू की और इसके साथ अमिता के भाई ने सूरज का पीछा किया।

एक दिन, वह सूरज से भिड़ गया और अपनी बहन के लापता होने से नाराज होकर अमिता के भाई सूरज को सीधे पुलिस स्टेशन ले गया। यहां, पुलिस ने सूरज से पूछताछ की, सबसे पहले उसने पुलिस को भी बहकाने की पूरी कोशिश की, लेकिन आखिरकार उसने स्वीकार कर लिया कि अमिता अब इस दुनिया में नहीं है।

बाद में, सूरज ने खुद पुलिस अधिकारियों को अमिता की हत्या की कहानी सुनाई। उसने कहा कि अमिता उससे लगातार शादी के लिए दवाब डाल रही थी, लेकिन चूंकि वह पहले से ही शादीशुदा था, इसलिए अमिता से पुनर्विवाह करना उनके लिए संभव नहीं था।

Horror Story in Hindi

ऐसी स्थिति में, उसने पहले अमिता से पीछा छुड़ाने की कोशिश की, लेकिन जब वह पीछे पड़ी, तो उसने अमिता को मार डाला साथ ही फिर उसने बाथरूम के ऊपर खाली जगह में उसी फ्लैट की दीवार में उसका शव रख दिया, जिसमें दोनों रहते थे।

सूरज ने न केवल इसके लिए सीमेंट, रेत और अन्य वस्तुओं लाया था, बल्कि लाश की गंध दीवार से नहीं आई, इसलिए उसने लीकेज रोकने वाला भी लगाया था। हत्या के बाद संदेह से बचने के लिए, वह न केवल इस अपार्टमेंट में रह रहा था, बल्कि अपने मकान मालिक को समय पर किराया भी दिया।

इसके अलावा, वह अक्सर अमिता के घर में टेक्स्ट मैसेज भेजता था और कई बार उसने लड़की की आवाज निकालकर उसके परिवार वालों से बात करके धोखा देने की कोशिश की। लेकिन अंत में उसके पाप से भरा घड़ा फूट गया और लड़की के परिवार के संदेह पर पकड़ा गया है।

दोस्तों पालघर की यह सच्ची घटना पर आधारित Horror Story in Hindi आपको कैसे लगी, कमेंट करके ज़रूर बताएँ। साथ ही इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।