Stories

Moral Stories in Hindi (Top 250 New & Short) : बेस्ट मोरल स्टोरीज इन हिंदी

Moral Stories in Hindi (नैतिक कहानियाँ) : यहाँ पर टॉप 250 बेस्ट मोरल स्टोरीज इन हिंदी दी गई हैं With Moral. अगर आप New Moral Stories in Hindi और Short Moral Stories in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो यहाँ आपको सब कुछ मिलेगा. एक से बढ़ कर एक नई हिंदी मोरल कहानियाँ. आइए शुरू करते हैं :

Moral Stories in Hindi
Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi

यहाँ पर कुल 250 मोरल स्टोरीज़ (नैतिक कहानियाँ) दी गई है. Class 10 के लिए भी कई कहानियाँ हैं. इसलिए इन कहानियों को बच्चे से लेकर बड़े भी पढ़ सकते हैं…और अधिक नैतिक कहानियाँ पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते हैं : Moral Stories

शेर और चरवाहा लड़का सोनू

एक बार की बात है, गाँव का एक चरवाहा लड़का ‘सोनू’ अपनी बकरियों को रोज़ाना जंगल चराने ले जाते था और वहीं पूरा दिन बकरियों के बीच टाइम पास करता था। जंगल के पास ही गाँव वाले अपने खेतों में काम करते थे। एक दिन सोनू ऊब जाता है और उसे एक शरारत सूझती है।

वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगता है – बचाओ, बचाओ शेर आया। खेतों में काम कर रहे लोग सोनू की आवाज़ सुन कर उसकी ओर भाग कर आते हैं। लेकिन जब वो उसके पास पहुँचे तो वो सोनू वहाँ खेल रहा होता है और शेर दिखाई नही देता। सोनू को खेलते देख कर लोग उससे पूछते हैं – ‘शेर कहा है?’ तो वो मुस्कुराने लगता है और कुछ नही बोलता।

फिर गाँव वाले उसे भला-बुरा कहके वापस आ जाते हैं। दूसरे दिन फिर सोनू शेर-शेर चिल्लाया तो गाँव वाले उसके पास दौड़े चले आए। इस बार भी सोनू के झूठ बोलने की वजह से लोग उस पर ग़ुस्सा होते हैं और चेतावनी देकर चले जाते हैं।

कुछ दिनों बाद सोनू जंगल में अपनी बकरियों को चरा रहा था कि उसने देखा कि एक शेर बकरियों की तरफ़ चुपके-चुपके बढ़ रहा है। वो शेर को देख कर घबरा जाता है और ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगता है -‘शेर, शेर….शेर आया…बचाओ…बचाओ’।

उसकी आवाज़ सुनकर गाँव वालों ने सोचा वो आज फिर मज़ाक कर रहा है इसलिए इस बार कोई नही गया। सूर्यास्त के बाद भी जब सोनू बकरियों को लेकर गाँव नही पहुँचा तो लोग उसे खोजने जंगल गए। जब वे पहाड़ी पर चढ़े, तो उन्होंने उसे रोते हुए पाया।

गाँव वालों ने जब सोनू से पूछा तो वो बताया कि शेर आया था और कई बकरियों को मार दिया। वो बचाओ…बचाओ चिल्लाया था लेकिन कोई मदद के लिए नही पहुँचा।

Moral of The Story : सोनू के पिता ने उसे सांत्वना दिया और घर ले आए। उसे एक सीख भी दी – जो लोग हमेशा झूठ बोलते हैं, उनकी सच बातों पर भी कोई विश्वास नही करता।’ अब सोनू ने क़सम खाई की वो कभी झूठ नही बोलेगा।

लालच बुरी बला – एक राजा की कहानी : Hindi Moral Stories

एक बार कि बात है प्राचीन मिस्र में खामेन नाम का बहुत ही दयालु राजा रहता था। राजा की वजह से राज्य की प्रजा बहुत खुश थी। वो भगवान की भी अच्छी सेवा करता था। उसके नेक काम और पूजा से खुश होकर एक दिन भगवान ने उसे दर्शन दिया और वरदान माँगने के लिए कहा।

राजा ने भगवान से वरदान माँगा की वो जो भी चीज़ छुए वो सोने की बन जाए। भगवान ने उसे इस समझाने का प्रयास किया लेकिन राजा अपनी बात पर अडिग रहा। कुछ देर में भगवान वरदान देकर चले जाते हैं।

अपनी नई शक्तियों से उत्साहित राजा खामेन ने हर वस्तु को छूना शुरू कर दिया ताकि वो सोने में बदल जाएँ, वही भी यही राजा जो भी छूता सब कुछ पल भर में ही सोने में बदल जाता था।

राजा खामेन को जब भूख लगी तो खाने के लिए जैसे ही एक निवाला उठाता है वो सोने में बदल जाता है, जिससे राजा कुछ भी खा नही पा रहा था अब वो भूखा ही सो गया।

कुछ समय बाद वो उदास होकर रोने लगा। जब उसके बेटे ने अपने पिता को रोता देखा तो उसके पास थाली लेकर खाना खिलाने गया। जैसे ही राजा का बेटा उसे खाने खिलाने के लिए छूता है वो भी सोने में बदल जाता है। ये देख कर राजा खामेन पछतावे के सिवाय अब कुछ नही कर पता और अपना सिर पीटने लगता है। जैसे ही वो अपना सिर छूता है वो भी सोने का बन जाता है, इस तरह राजा का पूरा परिवार सोने में बदल जाता है।

मोरल : इस मोरल स्टोरी से हमें सीख मिलती है की लालच करना हमेशा पतन की ओर ले जाता है। इसलिए हमें लालच नही करना चाहिए और जो कुछ हमारे पास है उसी में खुश रहना चाहिए।

एक उदास लड़का और उसके पिता की सीख

मोनू नाम का एक लड़का उदास होके बैठा था। जब उसके पिता ने देखा तो उससे उदास होने का कारण पूछा। मोनू ने रोते हुए अपनी ज़िंदगी की कई सारी समस्याएँ अपने पिता को बताया।

मोनू के पिता मुस्कुराए और उससे 3 कटोरे, पानी, आलू, अंडा और गुलाब का फूल लाने के लिए कहा। मोनू हैरान हुआ लेकिन पिता का आदेश था इसलिए चुपचाप ला दिया।

उसके पिता ने तीनों कटोरों में आलू, अंडा और गुलाब का फूल रख कर मोनू से कहा – इनको छूकर देखो, अभी कैसे हैं ये? मोनू पिता के कहे अनुसार आलू, अंडा और गुलाब के फूल को छूकर देखता है। इसके बाद मोनू की पिता तीनों कटोरों में पानी भर कर उबालने के लिए रख देते हैं।

तीनों को कुछ देर उबालने के बाद ठंडा करते हैं और फिर मोनू को आलू, अंडा और गुलाब के फूल को छूकर देखने को कहते हैं। इस बार मोनू ने देखा की आलू उबालने से मुलायम हो गया है और आसानी से छिल जाता है, अंडा और सख़्त हो गया है जबकि गुलाब उबलने से सिकुड़ गया है लेकिन पानी के कटोरे को सुगंध और अपने बेहतर कलर से भर दिया है। मोनू को उसके पिता ने अच्छी नैतिक शिक्षा दी थी। आगे जानिए क्या?

Moral Value of Story in Life (जीवन में कहानी का नैतिक मूल्य) : इंसान के जीवन में हमेशा समस्याएँ और दबाव होंगे, जैसे ही उबलता हुआ पानी। लेकिन इन समस्याओं पर हम कैसी प्रतिक्रिया करते हैं? यही बात मायने रखती है। कई लोग अपनी समस्याओं को ही आगे बढ़ने का जरिया बना लेते हैं और कई उन्हीं समस्याओं में ज़िंदगी भर उलझे रहते हैं।

Leave a Reply

You cannot copy content of this page
error: Content is protected !!