Motivational

धार्मिक कुरीतियों से महिलाओं को बाहर निकालने के लिए जद्दोजहद करती शहनाज अफजल की कहानी – Motivational Story in Hindi

Motivational Story in Hindi : स्वागत है दोस्तों, आज हम आपको एक ऐसी महिला की प्रेरक हिंदी कहानी (Hindi Motivational Story) लेकर आए हैं, जो ख़ुद तो अपने कट्टर धर्म की सामाजिक कुरीतियों से तो लड़ ही रही हैं, साथ ही वो दूसरी महिलाओं को भी धर्म के ठेकेदारों द्वारा बनाई गई सामाजिक बुराइयों से लड़ने के लिए प्रेरित कर रही हैं।

दिल्ली में रहने वाली शहनाज अफजल आज महिलाओं के लिए किसी प्रेरणा से कम नही हैं। शहनाज अफजल  दिल्ली के कश्मीरी गेट इलाक़े में रहती हैं। आज के समय में वो धार्मिक और सामाजिक बुराइयों में जकड़ी हुई महिलाओं के लिए एक संबल बन चुकी हैं।

शहनाज अफजल मुस्लिम धर्म में महिलाओं के ख़िलाफ़ होने वाले हर अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाती हैं। वो धर्म के ठेकेदारों और फ़तवों ने लड़ते हुए ना सिर्फ़ अडिग बनी हुई हैं, बल्कि वो मुस्लिम धर्म में व्याप्त कुरितियों जैसे की हलाला और तीन तलाक जैसी कुप्रथाओं के खिलाफ में मुखर होकर अपनी बात कहती हैं।

Motivational Story in Hindi

साथ ही धार्मिक और सामाजिक कुरितियों से पीड़ित महिलाओं को इंसाफ़ दिलाने और उनको आत्मनिर्भर बनाने के लिए भी दिन रात काम करती हैं।

आपको बता दें की शहनाज अफजल “मुस्लिम राष्ट्रीय मंच” की महिला विंग में राष्ट्रीय संयोजक के पद पर कम कर रही हैं। आज उनका काम ना सिर्फ़ दिल्ली में होता है बल्कि वो पंजाब, राजस्थान और उत्तर प्रदेश जैसे अन्य राज्यों में भी काम करती हैं।

Motivational Story in Hindi - Shahnaz afzal
Motivational Story in Hindi – Shahnaz afzal

उन्होंने “Kahani.HinduAlert.in” को बताया कि हमारा संगठन तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वतंत्र करने और उनको कुछ आर्थिक मदद देने की कोशिश भी शुरू कर चुका है।

शहनाज बचपन से ही सामाजिक कामों में बढ़ चढ कर भाग लेने लगी थी, उनके स्कूल शिक्षा के समय उनकी एक टीचर ने कहा की हमें हर दिन कम से कम एक नेक काम करना चाहिए।

अपनी टीचर की उस बात को मान कर शहनाज ने नेक कम की शुरुआत अपने घर के पड़ोस से ही की थी। सबसे पहले तो उन्होंने अपने पड़ोस की वृध्द महिलाओं की मदद करनी शुरू की जो की अब भी जारी है।

अब तो शहनाज का यह नेक काम अपने इलाक़े से निकल कर पूरे देश में फैल चुका है। अब वो धार्मिक ठेकेदारों के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाना, समाज की बुराईओं के ख़िलाफ़ खड़े होना, ग़रीबों की मदद करना, महिलाओं को शिक्षा के प्रति जागरूक करना जैसे कई काम एक साथ कर रही हैं।

Motivational Story in Hindi

शहनाज अफजल ने जामिया मिलिया इस्लामिया से आर्ट में पढ़ाई की थी। पढ़ाई ख़त्म करके वो दिल्ली की एक निजी स्कूल में बतौर टीचर जॉइन कर लीं। लेकिन कहते हैं ना की जिसकी क़िस्मत में समाज को बदलना लिखा को वह कहीं से अपना रास्ता बना ही लेता है।

यही हुआ शहनाज के साथ, स्कूल में पढ़ाने में उनका मन नही लगता था, क्योंकि उनका मन तो हमेशा सामाजिक भेदभाव को दूर करने, धार्मिक और सामाजिक बुराइओं के ख़िलाफ़ खड़ा होने का था।

ऐसे में वो मुस्लिम राष्ट्रीय मंच से जुड़ीं और अपने सपनों की तरफ़ आगे बढ़ने लगीं। उनकी मेहनत का ही परिणाम है की आज वो मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की राष्ट्रीय संयोजक बन चुकी हैं।

अब वो अपने सपनों को पूरा करने, धार्मिक और सामाजिक भेदभाव को ख़त्म करने और महिलाओं के हक़ की लड़ाई लड़ रही हैं।

इस देश में तीन तलाक का मुद्दा कोई मामूली मुद्दा नही है, क्योंकि इसके सपोर्ट में धर्म के ठेकेदार लगे हुए हैं। वो जानते हैं की अगर तीन तलाक बंद हो गया तो उनका सपना टूट जाएगा और वो लोगों का खासकर महिलाओं का धर्म के नाम पर उपभोग नही कर पाएँगे। इस मुद्दे पर शहनाज काफी मुखर हैं।

साथ ही उनका संगठन आज बेरोजगारी और अशिक्षा को दूर करने के लिए भी काफी ज़्यादा काम कर रहा है। केंद्र सरकार के तीन तलाक के ख़िलाफ़ क़ानून लाने से आज शहनाज बहुत ख़ुश हैं, उनका कहना है की हमारे प्रयासों का ही परिणाम था जो केंद्र सरकार ने इसके खिलाफ क़ानून लाई।

Hindi Motivational Story

अब क़ानून बनने की वजह से शहनाज और उनका संगठन तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं को क़ानूनी सहायता दे रहा है। साथ ही ऐसी महिलाओं को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने और उन्हें अपने पैरों में खड़े होने में आर्थिक मदद कर रहा है।

अभी तक शहनाज लगभग 4000 महिलाओं की ज़िंदगी को पूरी तरह बदल चुकी हैं। उनका यह मिशन अभी भी चालू है, और आगे बढ़ रहा है।

सलाम है ऐसी महिला को, जिसने आज के धर्म के कट्टर ठेकेदारों के सामने खुद को खड़ा कर पाई और देश को बदलने और समाज को जागरूक करने में अपना योगदान दे रही हैं।

दोस्तो, धार्मिक कुरीतियों से महिलाओं को बाहर निकालने के लिए जद्दोजहद करती शहनाज अफजाल की हिंदी कहानी – Motivational Story in Hindi आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ। अगर आपको यह Hindi Motivational Story पसंद आई हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

ऐसी ही kahani पढ़ने के लिए “kahani.hindualert.in” से जुड़ें रहें और हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें। साथ ही नई कहानियाँ अपने ईमेल पर पाने के लिए हमारे फ्री ईमेल सब्स्क्रिप्शन को अभी सब्स्क्राइब करें।