Motivational Story in Hindi (Leader Speaks) : Zoom के फ़ाउंडर एरिक युआन का कहना है कि अपने सपने पूरे करने की प्रेरणा किसी और से नही ख़ुद से मिलती है।

Self Motivation FulFill You Dreams - Motivational Story in Hindi
Self Motivation FulFill You Dreams – Motivational Story in Hindi

वर्चुअल मीटिंग प्लेटफ़ॉर्म ज़ूम के फ़ाउंडर और सीईओ एरिक युआन को कुछ समय पहले टाइम मैगज़ीन ने बिजनेस पर्सन ऑफ द ईयर 2020 घोषित किया था। कामयाबी के इस मुक़ाम पर पहुँचने वाले एरिक ने वीडियो एनवायरमेंट में मीटिंग्स करने की सुविधा देने के लिए ज़ूम की शुरुआत 2011 में की थी। वेबएक्स व सिस्को में एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम करने से लेकर सफल आंत्रप्रेन्योर के तौर पर पहचान बनाने वाले एरिक से कुछ लाइफ़ लेसंस सीखें जा सकते हैं।

किसी भी नई शुरुआत के लिए दूसरे की हाँ का इंतेज़ार ना करें

सिस्को में नौकरी से ना वे ख़ुद ख़ुश थे और ना ही उनके कस्टमर्स। ऐसे में उन्होंने अपनी कंपनी शुरू करने के लिए किसी की हाँ का इंतज़ार नही किया। वे 41 वर्ष के हो चुके थे, इसलिए उन्होंने ख़ुद को मोटिवेट करने का निर्णय किया। वे रोज़ ख़ुद से पूछते कि उनका सपना क्या है और बताते कि वे इसे अभी पूरा नही करेंगे तो अगले 10 वर्ष में भी स्थिति नही बदलने वाली।

वही करें जो सही हो

महामारी के दौरान ज़ूम ने दिखा दिया कि सही काम करना हमेशा तरक़्क़ी दिलाता है। कंपनी ने स्कूल्स को फ्री वीडियो काँन्फ़्रेसिंग के ज़रिए पढ़ाई जारी रखने और छुट्टी के दिन भी फ्री अकाउंट के लिए 40 मिनट की समय सीमा भी हटाकर यूज़र्स को नही सुविधा प्रदान की।

दोस्तों की मदद लें

एरिक बताते हैं कि अगर उनके दोस्त वित्तीय मदद नही करते तो ज़ूम का अस्तित्व में आना मुश्किल था। उन्होंने दोस्तों को यह भरोसा दिलाया कि वे उनका पैसा कई गुना करके रिटर्न करेंगे। इस तरह वे अपने परिवार और दोस्तों से 3 मिलियन डॉलर (लगभग 22 करोड़ 29 लाख रुपए) एकत्र कर पाए और फिर वीसी से फ़ंड्स हासिल करने में भी सफल हुए।

इस कहानी को भी पढ़ें :   धार्मिक कुरीतियों से महिलाओं को बाहर निकालने के लिए जद्दोजहद करती शहनाज अफजल की कहानी - Motivational Story in Hindi

आज के समय में वीडियो काँन्फ़्रेसिंग सर्विस के लिए ज़ूम दुनिया में नम्बर एक प्लेटफ़ॉर्म बन चुका है। यह सब एरिक की मेहनत और लगन के साथ, ख़ुद को मोटिवेट करने की वजह से हो पाया।

इसी के साथ मैं अपनी इस प्रेरक हिंदी कहानी (Motivational Story in Hindi) को विराम देता हूं। मित्रों यदि ये कहानी (Kahani) आपको पसंद आई हों, तो हमारे Facebook Page (हिंदी कहानियाँ) को लाइक और फ़ॉलो करें। साथ ही प्रतिदिन Kahani.HinduAlert.in में विज़िट करके नई हिंदी कहानियाँ (New Hindi Stories) पढ़ें।

अगर आपको मेरी लिखी यह कहानी (Motivational Hindi KahaniMotivational Hindi Story) पसंद आई हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया जैसे Facebook, WhatsApp, Twitter में शेयर करना ना भूलें। मैं उम्मीद करती हूँ की आप मेरी लिखी कहानियों (Hindi Stories) को ज़रूर पसंद करते होंगे।

Web Title : Motivational Story in Hindi – The motivation to fulfill your dreams comes from yourself.

हिंदी साहित्य में पढ़ाई करने के साथ ही मुझे हिंदी कहानियाँ लिखने का शौक़ था. मेरे इस शौक़ को मंच HinduAlert.in में मिला, जहाँ पर मैं अब अपनी लिखी हिंदी कहानियों को पब्लिश करती हूँ, ताकि दूसरे लोग जिनको कहानियाँ (Hindi Stories) पसंद हैं, वो भी मेरी लिखी रचनाओं को पढ़ सकें.