Friday, January 15हिंदी कहानियों का विशाल संग्रह

Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi : Motivational Story in Hindi, Short Moral Stories in Hindi….

चिंतित पति की हिंदी कहानी – Moral Stories in Hindi

चिंतित पति की हिंदी कहानी – Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi
Hindi Kahani - किसी शहर में एक खुशहाल दंपति रहता था, जो कई दशकों से साथ था। शहर में रहते हुए दोनों को कई साल बीत गए। कुछ समय बाद पति को चिंता होने लगी की उसकी पत्नी अब उसकी बातों को नही सुनती, जैसा कि वह पहले सुनती थी।उसने सोचा की उसकी पत्नी को शायद सुनने में अब परेशानी होने लगी हो, इस बात को सोच कर वह और चिंता में डूब गया। फिर उसके मन में आया की शायद उसकी पत्नी को अब डॉक्टर को दिखाना चाहिए, शायद कुछ इलाज हो जाए।moral stories in hindiलेकिन उसे अभी यह पता नही था, की वह अपनी पत्नी को कैसे और किस डॉक्टर के पास ले जाए। उसने अपनी पारिवारिक डॉक्टर को परामर्श के लिए बुलाया।डॉक्टर आकर उसकी बात सुनता है और उसे एक सरल उपाय बताता है की अगर आप ये देखना चाहते है की आपकी पत्नी को सही से सुनाई देता है की नही तो इसके लिए आपको एक टेस्ट करना चाहिए।डॉक्टर ने कहा - आप अपनी पत्नी से 40 फीट की दूरी पर खड़े...
लालची चूहा की हिंदी कहानी – moral stories in hindi, Greedy Mouse Hindi Story

लालची चूहा की हिंदी कहानी – moral stories in hindi, Greedy Mouse Hindi Story

Moral Stories in Hindi
Hindi kahani में स्वागत है दोस्तों, आज HinduAlert.in में आप एक लालची चूहे की हिंदी कहानी पढ़ेंगे। इस कहानी में आपको सीखने को मिलेगा की लालच कितनी ख़राब होती है।Hindi Story : एक बार एक लालची चूहे ने मकई से भरी टोकरी देखी। वह लालची चूहा चाहता था कि वह सारी मकई खा जाए, इसलिए उसने टोकरी में एक छोटा सा छेद बनाया। वह चूहा इस छेद के द्वारा मकई की टोकरी में चला गया।जब तक मकई की टोकरी भरी थी, तब तक उसने बहुत सारा मक्का खाया और बहुत खुश हुआ। अब चूहा मकई की टोकरी से बाहर आना चाहता था। उसने उसी छोटे छेद के माध्यम से बाहर आने की कोशिश की लेकिन वह ऐसा करने में विफल रहा।moral stories in hindiउनका पेट भरा हुआ था जिससे वह मोटा हो गया था इसलिए उस छोटे से छेंद से वह बाहर नही निकल पाया। उसने कई बार कोशिश की, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। वह चूहा उसी टोकरी में फँसा रह ग...
किसान के तीन बेटे और छड़ी का एक बंडल हिंदी कहानी / एकता में ही बल है – Moral Stories in Hindi

किसान के तीन बेटे और छड़ी का एक बंडल हिंदी कहानी / एकता में ही बल है – Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi
स्वागत है दोस्तो! आज HinduAlert में हम आपके लिए लेकर आए हैं किसान के तीन बेटों और छड़ी के बंडल की Hindi Kahani यह एक moral stories in hindi है। इसमें आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। इस कहानी में आपको सीखने को मिलेगा की एकता में ही बल है।एक बार की बात है, एक गाँव में एक बूढ़ा किसान व्यक्ति रहता था। उसके तीन बेटे थे। तीनों बेटे बहुत मेहनती थे। फिर भी, उन तीनों के बीच हमेशा झगड़ा होता रहता था। बूढ़ा किसान उनके झगड़ों से परेशान हो चुका है।एकता में ही बल है - Hindi Kahaniकिसान हमेशा अपने तीनों बेटों को समझाने की कोशिश करता और उन्हें एकजुट करने की बहुत कोशिश करता, लेकिन हमेशा वह अपनी कोशिश में असफल रहता। गाँव के पड़ोसी किसान के तीनों बेटों के मेहनत की तारीफ करते थे। लेकिन पड़ोसी उनके रोज-रोज के झगडों से परेशान भी होते थे और उनका मजाक उड़ाते थे। - hindi storyऐसे ...
मूर्ख बंदर और गौरैया की कहानी – Moral Stories in Hindi

मूर्ख बंदर और गौरैया की कहानी – Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi
Moral Stories in Hindi : सर्दी के मौसम में एक रात बहुत ज़्यादा ठंड पड रही थी। बंदरों का एक झुंड था जो इस कड़ाके की सर्द रात में  पेड़ की शाखाओं से चिपके हुए थे। बंदरों के झुंड में से एक बंदर ने कहा, “काश हमें आग मिल पाती, जो हमें गर्म रखने में मदद करती।”Moral Stories in Hindiअचानक बंदर के समूह को जुगनू का झुंड दिखाई दिया। इन बंदरों में से एक ने सोचा कि यह आग है। उसने एक जुगनू पकड़ लिया। और उस जुगनू को उसने एक सूखे पत्ते के नीचे रख दिया और उसे हवा देने लगा ताकि आग जल जाए। उस बंदर को ऐसा करते देख कुछ और बंदर उसका साथ देने के लिए आ गए।इसी बीच, एक गौरैया अपने घोंसले के पास उड़ती हुई आई, गौरैया अपना घोंसला उसी पेड़ पर बनाई थी, जिस पर बंदर बैठे थे। उसने देखा कि बंदर जुगनू से आग जला रहे हैं। ऐसा करते देख गौरैया हँस पड़ी। उसने कहा, “अरे मूर्ख बंदरो यह जुगनू हैं, असली आग नहीं, इससे आग नही...